पश्चिम बंगाल - एक और कश्मीर बनने की ओर?

  • 157 Views
  • 10 Likes
  • August 12, 2018 1:33 AM
articles

पश्चिम बंगाल (भारतीय बंगाल) भारत के पूर्वी भाग में स्थित एक राज्य है। इसके पड़ोस में नेपाल, सिक्किम, भूटान, असम, बांग्लादेश, ओडिशा, झारखंड और बिहार हैं। इसकी राजधानी कोलकाता है। इस राज्य मे 23 ज़िले है। यहां की मुख्य भाषा बांग्ला है।

यह वही बंगाल है जिसके दो टुकड़े पूर्वी बंगाल और पश्चिमी बंगाल आजादी के वक्त हुए थे। वेस्ट बंगाल में हिंदू ज्यादा थे और ईस्ट बंगाल में मुस्लिम ज्यादा थे तो धर्म के आधार पर हुए इस बंटवारे में पूर्वी बंगाल पाकिस्तान को मिला और पश्चिमी बंगाल भारत के हिस्से में आया। पूर्वी बंगाल ने पकिस्तान से अलग होकर 26 मार्च 1971 में एक नए राष्ट्र के रूप में जन्म लिया।

अब बात करते है अपने बंगाल की यानि पश्चिम बंगाल की, भारत की आज़ादी की लड़ाई में बंगाल का योगदान कोई नहीं भुला सकता क्यों की सुभाष चंद्र बॉस जैसे वीर सपूत इसी मिट्टी ने भारत को दिए.
आज़ादी से पहले और आज़ादी के बाद भी वेस्ट बंगाल कम्युनिस्टों का गढ़ रहा है। कम्युनिस्टों ने यही से अपनी पहुँच पुरे भारत में बनायीं हालाँकि वो भारत के बाकि हिस्सों में अपनी पहचान न के बराबर ही बना सके क्यों कि भारत हमेशा से ऐसी शक्तियों से लड़ा है और जीता है जो बहरी थी और भारत की मूल पहचान के लिए खतरा रही चाहे वो मुग़ल रहे हो या अंग्रेज या कम्युनिस्ट।

जब 1971 में ईस्ट बंगाल का पकिस्तान जब दमन कर रहा था तब बहुत से बांग्लादेशी मुस्लिम भारत में शरण के ले आने लगे जब तक ईस्ट बंगाल बांग्लादेश बनता तब तक कई करोड़ बांग्लादेशी वेस्ट बंगाल में घुस चुके थे।
अब बांग्लादेश बन चुका था और इन शरणार्थियों को वापस बांग्लादेश जाना चाहिए था लेकिन ऐसा हुआ नहीं और भारत सरकार की लचर नीतियों और मुफ्त के वोट बैंक के लालच में में ये बांग्लादेशी मुसलामन यहाँ बसने लगे और ये सिलसिलाआज भी जारी है ।

ध्यान देने वाली बात यह है कि जिस प्रदेश के हिस्से धर्म के आधार पर हुए थे एक हिन्दुओं का था और एक मुसलमानों को मिला तो बात स्पष्ट थी कि वेस्ट बंगाल हिन्दू बाहुल्य था और दूसरा हिस्सा मुस्लिम बाहुल्य, लेकिन बांग्लादेशियों के पश्चिम बंगाल में रह जाने की वजह से ये समीकरण बदलने लगा और हिन्दू मुस्लिम दंगे होने लगे क्यू कि मुस्लिम एक वोट बैंक था तो तत्कालीन सरकारें उन्हें तुष्ट करने में लगी रही और हिन्दू समाज को ताक पर रख दिया गया।

आज लगभग 40 साल बाद आज वहां पर 23 जिलों में से 10 जिले ऐसे है जहाँ मुस्लिम जनसँख्या 20% से 66% है और ये आकंड़े भी आधिकारिक नहीं है।




Leave a Comment:



Comments:


Avatar

Unknown July 15, 2018 7:05 PM

It's true


Avatar

Akhand July 16, 2018 12:20 AM

Agar yahi hota raha to Bangal kya pura India hi Kasmir ban jayega


Avatar

sahu July 17, 2018 5:10 PM

nhi me saha nhi hona duga


Avatar

Priyanka July 19, 2018 8:06 PM

अगर ऐसे ही हालात रहे तो एक दिन पूरा भारत कश्मीर बन जाएगा


Avatar

Garima July 22, 2018 12:20 PM

True


Avatar

Nitin July 22, 2018 12:39 PM

True..


Avatar

Rajat Sharma July 22, 2018 12:48 PM

Excellently written


Avatar

khushi July 25, 2018 2:36 PM

True